Monday, 09th December, 2019
Amazon
HEADAING
X

Breaking News

Dec-03-19 जानिए विक्रम को खोजने में नासा की मदद करने वाला भारतीय इंजीनियर के बारें में

Divay Bharat / बड़ी ख़बर /29-Mar-2019/Viewed : 143

बक्सर डी. ए. वी के अनावश्यक शुल्क वसूली पर फूटा अभिभावकों का गुस्सा,, जम कर किया विरोध प्रदर्शन

जानिए विक्रम को खोजने में नासा की मदद करने वाला भारतीय इंजीनियर के बारें में

दिव्यभारत मिडिया ,बक्सर:नीतिशास्त्र के महान ज्ञाता आचार्य चाणक्य ने विद्या के सम्बंध में कहा था
"रूप यौवम संपन्ना
विशाल कुल सम्भवा
विद्याहीना न शोभन्ते
निर्गुन्ध एवं किंशुकः"
अर्थात आप रूप से यौवन से सम्पन्न हो सकते हैं। विशाल कुल में भी आपका जन्म सम्भव हो सकता है। परन्तु आपके पास विद्या नहीं है तो इसका कोई मोल नहीं है। इस उक्ति से प्रेरणा लेते हुए भारत ने ज्ञान का ऐसा ज्योति जगाया जिससे सम्पूर्ण विश्व जजलव्यमान नक्षत्र के सदृश प्रकाशमान हो उठा। परन्तु शोक कि भारत की आज की शिक्षा व्यस्था अपने हाल पर अश्रु बहा रही है। हमारे देश में खास कर बिहार के विद्यालय अपने बेहद दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति से गुजर रहे है जिसका भरपूर फायदा निजी विद्यालय उठा रहे हैं। ये विद्यालय गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के नाम पर न केवल मोटी रकम वसूल रहे हैं बल्कि विशुद्ध व्यावसाय एवं मुनाफे का माध्यम बना लिए हैं। अभिभावकों से विभिन्न प्रकार के मनमानी शुल्क वसूलने का जैसे निजी विद्यालयों में होड़ सी मच गई हो।

आज बक्सर के ज्योति चौक अवस्थित डी. ए. वी विद्यालय में कुछ ऐसे ही मामले को लेकर अभिभावकों द्वारा जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया। अभिभावकों का स्पष्ट कहना है कि जब एक बार बच्चे का नामांकन शुल्क लिया जा ही चुका है,तो अगले कक्षा में दुबारा नामांकन शुल्क क्यों लिया जा रहा है। यदि अभिभावकों की माने तो यह शुल्क LKG से कक्षा 1 में जाने का करीब 10 हजार होता है जो DAV के ही आरा एवं गया शाखा से काफी ज्यादा है। अभिभावकों के न केवल अपनी मांगों को पुरजोर तरीके से रखा बल्कि प्रशासन को भी इस मामले में आरा एवं गया के डी. ए. वी. विद्यालय के शुल्क रसीद को ज्ञापन के साथ संलग्न कर सौंपा है। विरोध जताने में बक्सर के चर्चित नेता गिट्टू तिवारी एवं प्रभाकर ओझा शामिल समेत कई अभिभावक शामिल रहे।

HEADAING
Apecial Offer
श्री राम कलेक्शन ड
Puja Special