Wednesday, 21st August, 2019
Amazon
front
X

Breaking News

Aug-21-19 खुट्टी यादव हत्याकांड के अभियुक्त एडवोकेट चितरंजन सिंह को गोलियों से भुना

Divay Bharat / आज की खबर /01-Apr-2019/Viewed : 14

दिव्य भारत मीडिया चुनाव स्पेशल : बिहार के मतदाता किस आधार पर करते हैं वोट ?

खुट्टी यादव हत्याकांड के अभियुक्त एडवोकेट चितरंजन सिंह को गोलियों से भुना

दिव्य भारत मीडिया, पटना डेस्क : 11 अप्रैल से लोकसभा चुनाव के लिए शुरू हो रहे मतदान को देखते हुए एसोसिएशन फोर डेमोक्रेटिक रिफ़ॉर्म्स यानी एडीआर ने बिहार को लेकर एक सर्वे जारी किया है|

इस सर्वे में मुद्दों, वोट देने के आधार और तमाम पहलुओं की पड़ताल की गई है|

इस सर्वे के अनुसार बिहार के मतदाताओं के लिए रोज़गार, सिंचाई और स्वास्थ्य सुविधाओं से जुड़े मुद्दे सबसे अहम हैं. 49.95% लोगों के लिए रोज़गार, 41.43% लोगों के लिए सिंचाई और 39.09% लोगों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं सबसे अहम मुद्दे हैं|

इस सर्वे में मतदाता किस आधार पर वोट करते हैं इसकी भी गहन पड़ताल की गई है. बिहार में कोई मतदाता बूथ पर वोट देने जाता है तो किस तर्क के आधार किसी प्रत्याशी या पार्टी को पसंद कर वोट करता है?

हांलाकि इस सर्वे को 2018 में किया गया था लेकिन लोकसभा चुनाव को ध्यान में ही रखकर किया गया था. बिहारी मतदाताओं ने कहा कि वो विधानसभा के लिए वोट करने जाते हैं तो सबसे पहले ये देखते हैं कि मुख्यमंत्री का प्रत्याशी कौन है. इसके बाद प्रत्याशी की पार्टी को देखते हैं|

10 फ़ीसदी मतदाओं ने ये भी कहा कि वो अपना मत कैश, शराब और मिलने वाले उपहार से भी तय करते हैं|

86 फ़ीसदी बिहारी मतदाता वोट किसे देना है इसका निर्णय ख़ुद करते हैं. 98 फ़ीसदी लोगों ने कहा कि संसद और विधानसभा में आपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों को नहीं पहुंचना चाहिए|

35 फ़ीसदी लोगों ने कहा कि वो आपराधिक पृष्ठभूमि वालों को इसलिए वोट करते हैं क्योंकि वो ठीक काम करते हैं|

35 फ़ीसदी लोगों ने ये भी कहा कि वो जाति और धर्म के कारण आपराधिक पृष्ठभूमि वाले प्रत्याशियों को वोट करते हैं|

इस सर्वे में 87 फ़ीसदी ग्रामीण और 13 फ़ीसदी शहरी लोग शामिल हुए थे. इनमें 64 फ़ीसदी पुरुष और 36 फ़ीसदी महिलाएं थीं|

अगर जाति के आधार पर देखें तो 67 फ़ीसदी सवर्ण, 17 फ़ीसदी ओबीसी, 15 फ़ीसदी एससी और एक फ़ीसदी एसटी समुदाय से लोग शामिल हुए|

front
Apecial Offer
Aaj Ka Karyakaram