Sunday, 22nd September, 2019
Amazon
front
X

Breaking News

Sep-20-19 अनुकरणीय : उदय कुमार उज्जैन ने अपने स्व० बाबूजी के याद में लगायें 400 वृक्ष

Divay Bharat / खेल कुद /20-Aug-2019/Viewed : 69

श्रीसंत का बैन अगले साल हो जाएगा खत्म , जल्द ही दिखेंगे क्रिकेट खेलते हुए

अनुकरणीय : उदय कुमार उज्जैन ने अपने स्व० बाबूजी के याद में लगायें 400 वृक्ष

दिव्य भारत मीडिया, नई दिल्ली डेस्क : आखिकार फैसला आ गया कि एस. श्रीसंत अगले साल क्रिकेट में वापसी करेंगे. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के लोकपाल डीके जैन ने आदेश दिया है कि कथित स्पॉट फिक्सिंग मामले में कलंकित तेज गेंदबाज श्रीसंत पर लगा प्रतिबंध 13 सितंबर 2020 को खत्म हो जाएगा और वह सभी प्रकार के क्रिकेट खेलने के पात्र होंगे. लेकिन उनकी 'वापसी' कैसी होगी यह चर्चा का विषय है. 

श्रीसंत 6 साल से चले आ रहे प्रतिबंध के कारण अपना सर्वश्रेष्ठ दौर पहले ही खो चुके हैं. वह अगले साल तक 37 साल के हो जाएंगे. उनके पास अपने क्रिकेट करियर को पुनर्जीवित करने का एक अंतिम मौका है. हालांकि यह देखना होगा कि क्या वह अपनी घरेलू टीम केरल का प्रतिनिधित्व कर पाएंगे..? अगर क्रिकेट में उनकी वापसी हो भी जाती है, वह उनके लिए बड़ी खुशी देने वाली नहीं हो सकती.

दरअसल, टीम इंडिया में श्रीसंत की वापसी के रास्ते बंद हो चुके हैं. उम्र के इस पड़ाव में उनका फिटनेस लेवल अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी की तरह नहीं है, जबकि मौजूदा समय में भारतीय गेंदबाजी आक्रमण दुनिया में सर्वश्रेष्ठ श्रेणी में आता है. साथ ही ये भारत का अब तक का यह सबसे बेहतरीन गेंदबाजी कॉम्बिनेशन है.

इस बात पर भी गौर करना चाहिए कि श्रीसंत ने 2011 में आखिरी बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला है. अब एकाएक उन्हें भारतीय टीम में जगह कैसे मिल सकती है. सच्चाई तो यह है कि आईपीएल में फिक्सिंग मामले में श्रीसंत अपना क्रिकेट करियर बर्बाद कर चुके हैं. भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कई खिलाड़ियों को फिक्सिंग के दाग के बाद बाइज्जत बरी कर दिया गया हो, लेकिन आज भी ऐसे खिलाड़ी मैच फिक्सिंग की वजह से बदनाम हैं.

अजय जडेजा पर 2000 में कथित तौर पर बुकीज से संबंध होने के आरोप लगे. उन पर 5 साल का बैन भी लगा था. जनवरी 2003 में दिल्ली हाईकोर्ट ने उन्हें क्लीन चिट दी और घरेलू और इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने की अनुमति भी. लेकिन तब तक उनके क्रिकेट की चमक जा चुकी थी. इसी तरह कई और बड़े नाम हैं, जिनका खेल अपनी गलती से छूट गया.

श्रीसंत ने पिछले साल मांग की थी कि उन्हें देश में न सही विदेश में खेलने की इजाजत दी जाए. तब श्रीसंत ने स्कॉटलैंड कॉउंटी लीग में खेलने की ख्वाहिश जताई थी. अब शायद वह दूर देश में अपनी संभावना तलाशें. इसके लिए उन्हें बीसीसीआई की गाइडलाइंस भी देखनी होगी.

front
Apecial Offer
श्री राम कलेक्शन ड
Aaj Ka Karyakaram