Friday, 13th December, 2019
Amazon
HEADAING
X

Breaking News

Dec-03-19 जानिए विक्रम को खोजने में नासा की मदद करने वाला भारतीय इंजीनियर के बारें में

Divay Bharat / बड़ी ख़बर /15-Sep-2019/Viewed : 114

साकिवाटर्स संस्था द्वारा आर्सेनिक युक्त जल से उत्पन्न होनें वाले समस्या एवम् निदान के योजनाओं पर किया गया कार्यक्रम

जानिए विक्रम को खोजने में नासा की मदद करने वाला भारतीय इंजीनियर के बारें में

दिव्य भारत मीडिया बक्सर डेस्क : बक्सर जिलें के गंगा तट पर बसें ज्यादातर गाँव अर्शेनिक युक्त जल का इस्तेमाल कर रहे है जिससे ढेर सारे परेशानी उत्पन्न होनें लगे है, बक्सर जिले में  साकिवाटर्स संस्था द्वारा रिसर्च एवम् जागरूकता का कार्य किया जा रहा है तथा साकिवाटर्स संस्था, बक्सर  के दवरा दिनांक 13.09.2019 आजीविका कार्यालय, कालेज गेट (चरित्रवन), बक्सर में आर्सेनिक, आर्सेनिकोसिस और उसके शमन की योजनाओं पर एक कार्यक्रम ‌आयोजित किया गया इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. कमल किशोर राय, डॉ. आशुतोष कुमार चतुर्वेदी, सिमरी प्रखंड की सीडीपीओ संगीता कुमारी, पीएचइडी के केमिस्ट रविशंकर कुमार और पोषण अभियान के मयंक जोशी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम को साकिवाटर्स संस्था के परियोजना लीडर विद्या रमेश, चुरामोनी सैकिया, जिला समन्वयक गौतम आनंद, अभिषेक कुमार, (भागलपुर), क्षेत्र समन्वयक प्रवीण कुमार तथा रूबी देवी ने सफलतापूर्वक पूरा किया। इसमें पानी में मौजूद आर्सेनिक और उससे होने वाली शारीरिक समस्याओं और उनके निदान पर चर्चा की गई। इससे बचाव के लिए उपाय भी बताए गए। यह बताया गया कि कुछ सब्जियों, फलों और मसालों इत्यादि खाद्य पदार्थों का प्रतिदिन उचित मात्रा में उपयोग करके भी आर्सेनिक के प्रभाव से बचा जा सकता है।

पीएचईडी के केमिस्ट रविशंकर ने बताया कि 2020 के अंत तक सभी आर्सेनिक प्रभावित क्षेत्रों में 'हर घर नल जल योजना' के तहत सभी घरों में आर्सेनिक मुक्त जल पहुंचाया जाएगा। इसके बाद एक दूसरी टीम द्वारा एक खास किस्म के बर्तन में बालू, गिट्टी और लोहे के छीलन या कीलों का इस्तेमाल करके एक आर्सेनिक मुक्त फिल्टर बनाने की‌ प्रयोगविधि भी बताया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में आर्सेनिक प्रभावित चार प्रखंड सिमरी, बक्सर सदर, ब्रह्मपुर और चक्की के शिक्षक, शिक्षिका, एएनएम, आजीविका,अन्य गैर सरकारी संस्थाओं के सदस्य और ‌अकौना पंचायत के मुखिया, बीडीसी, पंच, वार्ड मेम्बर, पंचायत समिति के सचिव तथा सदस्य उपस्थित थे। सभी सदस्यों को प्रशिक्षण प्रमाणपत्र देने के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।

HEADAING
Apecial Offer
श्री राम कलेक्शन ड
Puja Special