Saturday, 07th December, 2019
Amazon
HEADAING
X

Breaking News

Dec-03-19 जानिए विक्रम को खोजने में नासा की मदद करने वाला भारतीय इंजीनियर के बारें में

Divay Bharat / राष्ट्रीय /02-Mar-2019/Viewed : 121

अभिनदंन के अभिनंदन में स्क्वॉड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ की शहादत की खबर की सुर्खियां नही बन पाई।

जानिए विक्रम को खोजने में नासा की मदद करने वाला भारतीय इंजीनियर के बारें में

नई दिल्ली : विंग कमांडर अभिनंदन की स्वदेश वापसी की खबर में स्क्वॉड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ की शहादत की खबर सुर्खियां नही बन पाई. गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के बड़गाम जिले में एक चॉपर हादसे में स्क्वॉड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ शहीद हो गए थे। जब पूरा देश शुक्रवार को वाघा बॉर्डर पर टकटकी लगाए विंग कमांडर अभिनंदन का इंतजार कर रहा था. तब शुक्रवार को ही स्क्वॉड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ का पूरे सैन्य सम्मान के साथ चंडीगढ़ में अंतिम संस्कार किया गया. इससे पहले सिद्धार्थ वशिष्ठ की पत्नी स्क्वॉड्रन लीडर आरती वशिष्ठ ने वर्दी पहनकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. इससे पहले स्क्वॉड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ का पार्थिव शरीर गुरुवार को विमान से चंडीगढ़ वायुसेना स्टेशन लाया गया था. उनकी पार्थिव देह को वायुसेना वाहन से चंडीगढ़ सेक्टर 44 स्थित उनके आवास से श्मशान घाट लाया गया. सिद्धार्थ वशिष्ठ के पिता ने उन्हें मुखाग्नि दी और वायु सेना ने सिद्धार्थ वशिष्ठ को बंदूक की सलामी दी। 31 वर्षीय सिद्धार्थ वशिष्ठ और उनके परिवार की पिछली तीन पीढ़ियों ने सशस्त्र बलों के लिए सेवाएं दी हैं. वह 2010 में वायुसेना में शामिल हुए थे और पिछले महीने केरल में आई बाढ़ के दौरान बचाव अभियान में उनकी भूमिका के लिए उन्हें सम्मानित भी किया गया |

 

HEADAING
Apecial Offer
श्री राम कलेक्शन ड
Puja Special